ब्रेकिंग न्यूज़ इंदौर पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन की तबियत में सुधार                मुबई ग्लोबल मार्केट में तेजी के कारण बढ सकते हे खाद्द्य तेलों के दाम                भोपाल सिपाही रितेश यादव ने दर्द से परेशां होकर की ख़ुदकुशी                भोपाल संकट समय केन्द्रिये मंत्री से युवक ने आक्सीजन मांगी मंत्री पटेल ने कहा दो खाओगे                भोपाल पुलिस दुआरा मनमर्जी से बैरिगेट्स लगाने को लेकर जनता में गुस्सा                भोपाल दस दिनों में करोना से दस शिक्षकों की मौत,आयुक्त ने जानकारी बुलवाई                भोपाल खाना बनाते समय महिला आग से झुलसी                भोपाल डॉ ने सफाईकर्मी महिला को मारा थप्पड़ कर्मचारी गए हड़ताल पर                बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                  
शहर मे आवारा कुत्तो का आतंक और निगम प्रशासन की कुंभकरणी नींद

भोपाल (हिना खान)

: शहर के नारियलखेड़ा पास शारदा नगर मे महिला ने किया 20 से ज़्यादा आवारा कुत्तो का पालन शहर मे वैसे ही पहले से आवारा कुत्तो की संख्या बहुत बड़ गयी है, जिस पर  नगर निगम प्रशासन की कोई निगरानी नही है। जिससे लोगो को अकसर असुविधा का सामना करना पड़ता है। महिला द्वारा पाले हुए आवारा कुत्तो ने मोहल्ले मे आतंक मचा रखा है।  केवल आधे घंटे के अंतराल मे इन कुत्तो ने तीन लोगो को अपना शिकार बनाया 15 से 20 कुत्तो के झुंड ने अचानक से एक साथ सुबह नमाज़ के किए मस्जिद की ओर जाने वाले लोगो पर बुरी तरह से हमला कर दिया, कुत्तो ने किसी को पेट मे काटा तो किसी की जांघ पर, हाथ पैर बुरी तरह घायल कर दिए। घटना से रहवासियों मे दहशत का माहौल बन गया है। लोग बच्चो और बूढ़ो को घर से बाहर नही निकलने दे रहे है। लोगो का प्रशासन पर आरोप है, निगम कभी भी अपना काम ठीक तरिके से नही करता बार बार शिकायत करने पर भी कुत्तो को पकड़ने निगम की तरफ से कोई नही आता है। जिस महिला ने कुत्ते पाल रखे है, उस पर भी कोई कार्यवाही नही करता है। आवारा कुत्तो का लोगो पर आए दिन कोई न कोई हमला हो रहा है। कुत्तो के इस जानलेवा पागलपन के कारण  रहवासियों का बाहर निकलना दूभर हो रहा है।  निगम को आवारा कुत्तों को पकड़कर उस कुत्ता पालक महिला के खिलाफ कार्यवाही करनी चाहिए।  

ये राजधानी मे कुत्तो के आतंक की पहली घटना नही है इससे पहले भेल के सोनागिरी इलाके मे एक बच्ची को आवारा कुत्ते अपना शिकार बना चुके है।

ऐसी ही घटना कोहेफिज़ा इलाके मे और निशातपुरा झेत्र मे भी घट चुकी है। मगर निगम प्रशासन लगता है कानो मे रुई लगा कर बैठा है, जब तक शहर के नागरिक इसके लिए सड़कों पर चक्का जाम नही करेंगे तब तक कुंभकरणी नींद से निगम प्रशासन नही जागेगा।      

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com