ब्रेकिंग न्यूज़ इंदौर पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन की तबियत में सुधार                मुबई ग्लोबल मार्केट में तेजी के कारण बढ सकते हे खाद्द्य तेलों के दाम                भोपाल सिपाही रितेश यादव ने दर्द से परेशां होकर की ख़ुदकुशी                भोपाल संकट समय केन्द्रिये मंत्री से युवक ने आक्सीजन मांगी मंत्री पटेल ने कहा दो खाओगे                भोपाल पुलिस दुआरा मनमर्जी से बैरिगेट्स लगाने को लेकर जनता में गुस्सा                भोपाल दस दिनों में करोना से दस शिक्षकों की मौत,आयुक्त ने जानकारी बुलवाई                भोपाल खाना बनाते समय महिला आग से झुलसी                भोपाल डॉ ने सफाईकर्मी महिला को मारा थप्पड़ कर्मचारी गए हड़ताल पर                बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                  
इंदौर पुलिस ने शहर मे लागू कोरोना पाबंदियों मे सख्ती कर जनता के साथ अमानवीय व्यवहार किया

इंदौर

शहर मे लागू कोरोना पाबंदियों के नियम एकदम से सख्ती बढ़ाने पर सभी लोगो मे अच्छी ख़ासी नाराजगी देखी गई है। डेढ़ महीने से चल रही कोरोना पाबंदियों के नियम 11 बार बदले जा चुके है॥ भाजपा राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने इसे तानाशाहीपूर्ण  निर्णय करार दिया है, विभिन्न व्यपारियों ओर उनके संगठनो ने भी विरोध जताया है। ओर इधर कलेक्टर मनीष सिंह ने सख्तियों को 1 जून से अनलॉक करने से फले का मास्टर स्ट्रोक कहा है।

पुलिस ने कलेक्टोरेट चौराहे पर एक कार को रोका और उसमे महिला चालक  जो कि गर्भवती है, वह महिला बोली कि में अन्नपूर्णा क्षेत्र मे रहती हूँ। एचडीएफसी सियागंज शाखा कि कर्मचारी हूँ, वहां जा रही हूँ। पुलिस ने खा कलेक्टर के आदेश मे काही भी बैंक खुलने का नहीं लिखा है और कार कि हवा निकाल दी व महिला को 30 मिनिट तक धूप मे खड़ा रखा। बाद मे बैंक के डिस्ट्रिक्ट कोआर्डिनेटर विनोद शर्मा व्हा पहुंचे उसके बाद महिला को छोड़ा और इधर रीगल तिराहे पीआर एक ऑटो चालक को पकड़ के सिटी बस मे बिठाया, उसने कहा भी कि पत्नी को छोड़कर वैक्सीन लेने जा रहा हूँ। उसने अपना कार्ड भी दिखाया पर उसकी नहीं सुनी। और पुलिसकर्मियों ने शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ॰ शादाब हुसैन के साथ भी बदसलूकी की। डॉ॰ ने कहा की आई एम डॉ॰ और में अपना क्लीनिक खोलने जा रहे है पर उनकी भी  नहीं सुनी और पुलिसवाला बोला ज्यादा अँग्रेजी झाड़  रहा है और  सिटी बस में 20 मिनिट बिठाए रखा। डॉ॰ ने मेडिकल एसोसीएशन से शिकायत की है। की जब ये डॉ॰ के साथ ऐसा सलूक कर रहे है तो ये आम जनता के साथ क्या कर रहे होंगे।

पुलिस की सख्ती पर डीआईजी मनीष कपूरिया ने कहा – बिना वजह किसी को परेशान नहीं किया जाएगा। गर्भवती महिला को रोकना ओर गाड़ी की हवा निकालना ओर वैक्सीन रिक्शा चालक को रोक रखना एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। अगर ऐसा हुआ है तो जांच बाद संबन्धित पुलिसकर्मियों पर कार्यवाही की जाएगी।   

 

 

 

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com