ब्रेकिंग न्यूज़ इंदौर पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन की तबियत में सुधार                मुबई ग्लोबल मार्केट में तेजी के कारण बढ सकते हे खाद्द्य तेलों के दाम                भोपाल सिपाही रितेश यादव ने दर्द से परेशां होकर की ख़ुदकुशी                भोपाल संकट समय केन्द्रिये मंत्री से युवक ने आक्सीजन मांगी मंत्री पटेल ने कहा दो खाओगे                भोपाल पुलिस दुआरा मनमर्जी से बैरिगेट्स लगाने को लेकर जनता में गुस्सा                भोपाल दस दिनों में करोना से दस शिक्षकों की मौत,आयुक्त ने जानकारी बुलवाई                भोपाल खाना बनाते समय महिला आग से झुलसी                भोपाल डॉ ने सफाईकर्मी महिला को मारा थप्पड़ कर्मचारी गए हड़ताल पर                बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                  
मंत्री ने पूछा अफसर बगले झाकते रहे

भोपाल, बीडीए को लीज रिन्यू और नामांतरण के मामले जल्द निपटाने के निर्देश

भोपाल.... विकास प्राधिकरण के अधिकारी सोमवार को उस वक़्त सकते में आ गए,

जब नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सहीं ने उनसे पूछ लिया कि अपने शहर के विकास के लिए क्या किया? इंदौर विकास प्राधिकरण के शहर में किए विकास के कामो कि तारीफ करते हुए उन्होंने यह सवाल पूछा। ग्वालियर का भी उन्होंने उदाहरण दिया और कहा कि आपने मास्टर प्लान के रोड बनाए क्या? लेकिन बीड़ीए अफसर मंत्री के सवालो का  कोई जवाब नहीं दे पाए। प्राधिकरण के कम कि समीक्षा कर रहे  विकास सिंह तथा सीईओ बुद्धेश वैध ने अपने प्रेजेंटेशन में बताया कि मिसरोद फेज-1 व फेज-2 का कम 90 प्रतिशत, एयरोसिटी फेज-1 और राजभोज आवासीय योजना का कम लगभग 80 प्रतिशत पूरा हो गया है। रक्षाविहार चरण-3 और एयरोसिटी चरण-2 का कम वर्ष 2022 तक पूरा कर लिया जाएगा।

लेटलतीफी यहां भी... आईडीए में 6000 तो बीड़ीए में 2500 लीज केस पेंडिंग

बीडीए व आईडीए में लीज

नवीनीकरण केसों की लेट लतीफी पर भी सिंह ने नाराजगी जताई। आईडीए में लीज नवीनीकरण के करीब छह हजार और बीड़ीए में लगभग ढाई हजार प्रकरण पेंडींग हैं ।

सिंह ने निर्देश दिए कि लीज रिन्यू व नामांतरण के सभी मामले जल्द निपटाएं।

 

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com