ब्रेकिंग न्यूज़ भोपाल : निगम की वेबसाइट से गायब हैं महापौर पार्षद                रतलाम : पश्चिम एक्स्प्रेस के फ़र्स्ट एसी कोच की स्प्रिंग टूटी |                भोपाल : पहली बार भोपाल में पुलिस परिवारों के लिए भी गरबा आयोजित                भोपाल : कमलनाथ बोले – शिवराज सरकार झूठ का पुलिंदा हैं                मुरादाबाद : नाबालिग से समूहिक दुष्कर्म, सड़क पर निर्वस्त्र छोड़ा |                नई दिल्ली : हिजाब – सुनवाई पूरी कोर्ट नें फैसला सुरक्षित रखा |                नई दिल्ली-- कोमेडियन राजू श्रीवास्तव का लंबी बीमारी के बाद निधन                भोपाल : भोपाल शहर के नए प्रधान आयकर आयुक्त होंगे राजीव वाशर्णेय,अजय अत्री को इंदौर की कमान                भोपाल : केके मिश्रा ने ब्राहामणों को दी गाली ,भाजपा बोली – भारत जोड़ो यात्रा नहीं निकलने देंगे                भोपाल : इज्तिमा 18 से 21 नवंबर तक पहली बार विदेशी जमात शामिल नहीं होगी                नई दिल्ली : ईरान में महिलाएं हिजाब के खिलाफ सड़क पर हैं                मुंबई : केंद्रीय मंत्री राणे का अवैध निर्माण टूटेगा 10 लाख का जुर्माना लगा                गुना : कांग्रेस नेता ने बेटे को नौकरी दिलाने के नाम पर महिला के साथ ज़्यादती की                आगरा : ताजमहल परिसर में विदेशी महिला टुरिस्ट को बंदर ने काटा |                जयपुर : राम मंदिर आंदोलन से जुड़े आचार्य धर्मेन्द्र का निधन |                नई दिल्ली : गुजरात के आईपीएस को सुप्रीम कोर्ट से मिली राहत |                मुख्यमंत्री के निर्देश पर झाबुआ के एसपी अरविंद तिवारी सस्पेंड किए गए |                भोपाल, केक काटने को लेकर हुए विवाद में एसआई पर महिला से झूमाझटकी का आरोप                लखनऊ – भोपाल और लखनऊ गरीबरथ एक्स्प्रेस तीन –तीन दिन निरस्त रहेंगी                गुजरात : ब्रेस्ट कैंसर के खिलाफ जागरूकता के लिए 1000 जैन साध्वियाँ ब्रांड एम्बेसडर बनेंगी                  
मध्यप्रदेश के 26 जिलों में लंपी वाइरस ने पसारे पैर , 1912 गाँव लंपी की चपेट में ,101 गायों की मौत |

भोपाल :( नुजहत सुल्तान) राजस्थान के बाद अब मध्यप्रदेश में भी लंपी वायरस तेज़ी से फैल रहा हैं | 4 अगस्त को रतलाम में

 इसका असर सबसे पहले दिखाई दिया | इसके बाद इसके  बढ़ते हुए संकर्मण नें तबाही मचा दी यह संख्या डेढ़

महीने में लगभग 8 हज़ार के करीब पहुँच गई हैं | 26 जिलों के 1912 गाँव लंपी की चपेट में आ चुके हैं

7 हज़ार से ज़्यादा गौ माताएँ संक्रमित ,और 101 गायों की मौत हो चुकी हैं | सबसे ज़्यादा नुकसान खंडवा

 नीमच, और मंदसोर जिलें में हुआ हैं |इस वायरस का सबसे ज़्यादा असर राजस्थान और गुजरात के पास के इलाक़े

आलीराजपुर , झाबुआ , रतलाम , मंदसोर , नीमच , राजगढ़ , बुरहानपुर में हुआ हैं | इन जिलों में सुरक्षा बढ़ा दी

गई हैं | पशु चिकित्सा संस्थाओं, मुख्य गिराम इकाई, पशु माता महामारी आदि में लगे वेटरनरी डॉक्टरों ,

असिस्टेंट सर्जन और असिस्टेंट वेटरनारी डॉक्टरों को तैनात किया हैं | राज्य पशु रोग अन्वेषण प्रयोगशाला भोपाल

में कंट्रोल रूम बनाया गया हैं | मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान नें बुधवार को लंपी वायरस का परिक्षण किया |

बैठक में बताया गया की वायरस से लगभग 8000 पशु प्रभावित हुए हैं | जिसमें 5432 पशु ठीक हुए हैं |

वैक्सिन और इलाज के लिए मध्यप्रदेश सरकार नें केंद्र की एस्केड योजना के तहत 1.76 रुपए की मांग की हैं |

लंपी वायरस का दूध पर कोई असर नही हैं | लंपी वायरस गाय से गाय और गाय से भैंस में फैलता हैं |

लंपी की मूल वेक्सीन अभी नहीं आई हैं | वैकल्पिक वैक्सीन गोट पाक्स दिया जा रहा हैं |यह बकरियों और

भेड़ को दिया जाता हैं | गायों को इसकी तीन गुनाह ज़्यादा डोज़ देनी पड़ती हैं | यह किस तरह की बीमारी हैं ?

यह एक स्किन बीमारी हैं | जो पाक्स प्रजाति के वायरस से गाय और भैंसों में होती हैं | इसके कई लक्षण हैं जैसे

पशु को बुखार , अत्यधिक लार , आँख – नांक से पानी बहना ,पैरों में सूजन ,दूध कम देना , पशुओं में गर्भपात

शरीर पर 2 से 5 सेमी आकार की गठानें बन जाना | वैक्सीन के अलावा इसका उपचार संक्रमित पशु ,कीट ,

किलनी ,मक्खी – मच्छर से स्वस्थ पशुओं को दूर रखना हैं |  

भोपाल :( नुजहत सुल्तान) राजस्थान के बाद अब मध्यप्रदेश में भी लंपी वायरस तेज़ी से फैल रहा हैं | 4 अगस्त को रतलाम में

 इसका असर सबसे पहले दिखाई दिया | इसके बाद इसके  बढ़ते हुए संकर्मण नें तबाही मचा दी यह संख्या डेढ़

महीने में लगभग 8 हज़ार के करीब पहुँच गई हैं | 26 जिलों के 1912 गाँव लंपी की चपेट में आ चुके हैं

7 हज़ार से ज़्यादा गौ माताएँ संक्रमित ,और 101 गायों की मौत हो चुकी हैं | सबसे ज़्यादा नुकसान खंडवा

 नीमच, और मंदसोर जिलें में हुआ हैं |इस वायरस का सबसे ज़्यादा असर राजस्थान और गुजरात के पास के इलाक़े

आलीराजपुर , झाबुआ , रतलाम , मंदसोर , नीमच , राजगढ़ , बुरहानपुर में हुआ हैं | इन जिलों में सुरक्षा बढ़ा दी

गई हैं | पशु चिकित्सा संस्थाओं, मुख्य गिराम इकाई, पशु माता महामारी आदि में लगे वेटरनरी डॉक्टरों ,

असिस्टेंट सर्जन और असिस्टेंट वेटरनारी डॉक्टरों को तैनात किया हैं | राज्य पशु रोग अन्वेषण प्रयोगशाला भोपाल

में कंट्रोल रूम बनाया गया हैं | मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान नें बुधवार को लंपी वायरस का परिक्षण किया |

बैठक में बताया गया की वायरस से लगभग 8000 पशु प्रभावित हुए हैं | जिसमें 5432 पशु ठीक हुए हैं |

वैक्सिन और इलाज के लिए मध्यप्रदेश सरकार नें केंद्र की एस्केड योजना के तहत 1.76 रुपए की मांग की हैं |

लंपी वायरस का दूध पर कोई असर नही हैं | लंपी वायरस गाय से गाय और गाय से भैंस में फैलता हैं |

लंपी की मूल वेक्सीन अभी नहीं आई हैं | वैकल्पिक वैक्सीन गोट पाक्स दिया जा रहा हैं |यह बकरियों और

भेड़ को दिया जाता हैं | गायों को इसकी तीन गुनाह ज़्यादा डोज़ देनी पड़ती हैं | यह किस तरह की बीमारी हैं ?

यह एक स्किन बीमारी हैं | जो पाक्स प्रजाति के वायरस से गाय और भैंसों में होती हैं | इसके कई लक्षण हैं जैसे

पशु को बुखार , अत्यधिक लार , आँख – नांक से पानी बहना ,पैरों में सूजन ,दूध कम देना , पशुओं में गर्भपात

शरीर पर 2 से 5 सेमी आकार की गठानें बन जाना | वैक्सीन के अलावा इसका उपचार संक्रमित पशु ,कीट ,

किलनी ,मक्खी – मच्छर से स्वस्थ पशुओं को दूर रखना हैं |  

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com