ब्रेकिंग न्यूज़ इंदौर टी आई भदोरिया सस्पेंड                प्रदेश मे कल से बंद रहेंगी 150 जीनिग फेक्टरी                समाजवादी पार्टी के संरक्षक पूर्व मुख्य मंत्री मुलायम सिंह का दिल्ली मे निधन                भोपाल : निगम की वेबसाइट से गायब हैं महापौर पार्षद                रतलाम : पश्चिम एक्स्प्रेस के फ़र्स्ट एसी कोच की स्प्रिंग टूटी |                भोपाल : पहली बार भोपाल में पुलिस परिवारों के लिए भी गरबा आयोजित                भोपाल : कमलनाथ बोले – शिवराज सरकार झूठ का पुलिंदा हैं                मुरादाबाद : नाबालिग से समूहिक दुष्कर्म, सड़क पर निर्वस्त्र छोड़ा |                नई दिल्ली-- कोमेडियन राजू श्रीवास्तव का लंबी बीमारी के बाद निधन                भोपाल : भोपाल शहर के नए प्रधान आयकर आयुक्त होंगे राजीव वाशर्णेय,अजय अत्री को इंदौर की कमान                भोपाल : इज्तिमा 18 से 21 नवंबर तक पहली बार विदेशी जमात शामिल नहीं होगी                नई दिल्ली : ईरान में महिलाएं हिजाब के खिलाफ सड़क पर हैं                मुंबई : केंद्रीय मंत्री राणे का अवैध निर्माण टूटेगा 10 लाख का जुर्माना लगा                गुना : कांग्रेस नेता ने बेटे को नौकरी दिलाने के नाम पर महिला के साथ ज़्यादती की                जयपुर : राम मंदिर आंदोलन से जुड़े आचार्य धर्मेन्द्र का निधन |                नई दिल्ली : गुजरात के आईपीएस को सुप्रीम कोर्ट से मिली राहत |                मुख्यमंत्री के निर्देश पर झाबुआ के एसपी अरविंद तिवारी सस्पेंड किए गए |                भोपाल, केक काटने को लेकर हुए विवाद में एसआई पर महिला से झूमाझटकी का आरोप                  
फायर एनओसी के लिए नई गाइडलाइन जारी, महीनों कलेक्ट्रेट, नगर-निगम के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे 50 से कम बेड वाले हॉस्पिटल, होटल को फायर सेफ़्टी सर्टिफिकेट देने की अनुमति |

भोपाल : ( नुजहत सुल्तान ) पिछले कुछ सालों में प्रदेश में कई जगह छोटे अस्पतालों व नर्सिंग होम्स में आग के कारण कई मौतें हुई थीं इनकी जांच में पाया गया था कि कई अस्पतालों के पास सिर्फ प्रोविज़नल एनओसी थी, लेकिन फायर प्लान के अनुरूप आग बुझाने के कोई इंतेजाम नहीं थे | लेकिन अब इस समस्या के समाधान के लिए शासन ने हाई लेवल कमेटी बनाई हैं |  50 से कम बेड वाले अस्पताल, होटल और 15 मीटर यानि 50 फीट से कम ऊंचाई वाली बिल्डिंग के लिए फायर सेफ़्टी प्लान का अप्रूवल सीधे फायर कंसल्टेंट दे सकेंगे | उन्हें फायर सेफ़्टी सर्टिफिकेट देने की अनुमति भी रहेगी इसके लिए कंसल्टेंट को संबंधित फायर ऑफिसर को सूचना देनी होगी | नगरीय विकास एवं आवास विभाग ने फायर एनओसी के लिए नई गाइडलाइन जारी कर दी हैं | इसके तहत फायर ऑफिसर कंसल्टेंट द्वारा दी अनुमतियों की 10% रैंडम जांच कर सकेंगे | गड़बड़ी पाए जाने पर कंसल्टेंट पर कार्रवाई की जाएगी | फायर सेफ़्टी प्लान अप्रूव होने के बाद ऊर्जा विभाग के नियमों के तहत बिजली सुरक्षा प्रमाण पत्र लेने के लिए ऑडिट होगा | 33 किलोवाट या उससे कम वोल्टेज वाली बिजली व्यवस्था की जांच ऊर्जा विभाग द्वारा अधिकृत चार्टर्ड इलेक्ट्रिक सेफ़्टी इंजीनियर या फिर पीडब्ल्यूडी के विद्दुत एवं यांत्रिकी संकाय में कार्यरत सहायक अभियंता या उससे उच्च स्तर के ऐसे इंजीनियर करेंगे जिनके पास इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग का सर्टिफिकेट हो |

 

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com