ब्रेकिंग न्यूज़ मुंबई : सलमान खान के घर फायरिंग के आरोप में गिरफ्तार आरोपी हिरासत में फंदे पर लटका मौत |                खंडवा : मार्कशीट में जन्मतिथि देखकर प्रेम विवाह करने वाली लड़की निकली नाबालिग प्रेमी गिरफ्तार |                 दतिया : डायनामाइट में पत्थर मारते ही विस्फोट, दो युवकों की मौत |                इंदौर : फर्जी बिल कांड में तीन कर्मचारी बर्खास्त |                इंदौर : कांग्रेस नेता मनोज सुले ने अपने कोल्ड स्टोरेज में फांसी लगाकर की अत्महत्या |                रतलाम : गला दबाकर पत्नी की हत्या कर आत्महत्या दिखाने के लिए मुंह में डाला जहर |                आलीराजपुर : शादी में जा रहे 2 भाइयों की ट्रक की चपेट में आने से मौत |                राजगढ़ : जंगल में पेड़ पर लटका मिला 72 दिन से गायब युवक का कंकाल |                झाबुआ : साड़ी के फंदे में फर्श पर मिला युवक का शव, हत्या की आशंका |                  
सीएम स्वेच्छानुदान की राशि आचार संहिता के नाम पर इलाज का पैसा रोकने से मरीजों का इलाज अटका |

भोपाल : 20/03/2024 :( नुजहत सुल्तान ) कई दिनों से आचार संहिता के नाम पर सीएम स्वेच्छानुदान स्वीकृति की प्रक्रिया बंद कर दी गई है, इसका खामियाजा वो मरीज भुगत रहे हैं, जिन्हें तुरंत इलाज की आवश्यकता है | उन्हें अगर समय पर इलाज नहीं मिला तो उनकी जान भी जा सकती है | मप्र मुख्यमंत्री सचिवालय में रोजाना ऐसे 20-30 मामले पहुँचते हैं | लोकसभा चुनाव के कारण आचार संहिता करीब 81 दिनों तक लागू रहेगी और मरीजों को इलाज के लिए पैसा नहीं मिलेगा | यानि गंभीर मरीजों का इलाज रुकने से होने वाली मौत का कारण आचार संहिता हो सकती है क्योंकि अफसरों का कहना है कि आचार संहिता लागू होने के कारण स्वेच्छानुदान की राशि नहीं दे सकते | इधर निर्वाचन आयोग का कहना है कि ऐसे मरीजों के इलाज की राशि सीधे अस्पताल में ट्रांसफर करने पर रोक नहीं है | नियमों के तहत सिर्फ ऐसे मामलों को सीएम स्वेच्छानुदान के तहत मंजूर किया जा सकता है, जिसमें इलाज के लिए दी जा रही राशि सीधे अस्पताल के खाते में जाए, न कि मरीज के खाते में | कुछ ऐसे ही मरीजों से बातचीत के दौरान सभी मरीजों का दर्द यही था कि जब आचार संहिता के बीच दूसरे सरकारी कामों के लिए रास्ते निकाल लिए जाते हैं तो भारत निर्वाचन आयोग मानवीय पहलू के आधार पर हल क्यों नहीं निकालता ? इस पर मुख्यमंत्री सचिवालय के अफसरों का कहना है कि ऐसे मरीजों का प्रस्ताव बनाकर भारत निर्वाचन आयोग से अनुदान राशि स्वीकृत करने की अनुमति लेंगे | मंत्री गोपाल भार्गव और इंदौर से विधायक राकेश शुक्ला ने भी मानवीय पहलू के आधार पर सीएम स्वेच्छानुदान शुरू करने के लिए भारत निर्वाचन आयोग को पत्र लिखा है |

 

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com