ब्रेकिंग न्यूज़ सिरोंज : नाबालिग का अपहरण कर बिना पंडित के ही मंदिर में लिए फेरे केस दर्ज |                मंदसौर : नशे में धुत शिक्षक ने स्कूल में किया हंगामा मामला दर्ज |                बड़वानी : अनियंत्रित होकर नदी की पुलिया पर लटकी बस, यात्री सुरक्षित |                भिंड : युवक की पीट पीटकर हत्या, चचेरे भाई गंभीर परिजनों ने किया चक्काजाम |                ग्वालियर : बीएसएफ प्रशिक्षक शहाना पर साथी के अपहरण की एफआईआर |                ग्वालियर : बीएसएफ प्रशिक्षक शहाना पर साथी के अपहरण की एफआईआर |                सागर : मेहर गाँव में उल्टी दस्त के मरीज बढ़े एक की मौत |                  
दाउदी बोहरा समाज मै उठी आमिल साहब के इस्तीफे और जमात कमेटी को भंग करने की मांग


भोपाल (सैफुद्दीन सैफ़ी)

भोपाल दाउदी बोहरा समाज जो अमूमन एक शांति प्रिय और व्यापारिक कौम के रूप में जानी पहचानी जाती है। जिसमे

गत शुक्रवार को समाज के एक ईद मिलन कार्यक्रम में भोपाल लोकसभा चुनाव के उम्मीदवार अलोकशर्मा को समाज के ही कुछ लोग लेकर पुहंच गए जहाँ पर आलोक शर्मा दुआरा अपने समर्थन कुछ बाते कही गयी तथा घर घर मोदी के नारे लगवाये गए  मगर बाद में इस कार्यक्रम की खबर राष्ट्रीय स्तर पर इस तरह से जंगल मे आग की तरह फैली की बोहरा समाज के कार्यक्रम में आयोजित बोहरा मस्जिद में घर घर मोदी हर हर मोदी के नारे लगे. जबकि बोहरा समाज का यह कार्यक्रम बोहरा मस्जिद में न होकर उनके कम्युनिटी हाल(जमातखाना) में आयोजित था इस गलत खबर को लेकर दूसरे इस्लामी फिरको के लोगो मे भी इस बात को लेकर सोशल मीडिया और व्हाट्सअप ग्रुपों में तीखी प्रतिक्रिया हुई कि बोहरा समाज की मस्जिद में मोदी जी को लेकर नारे बाजी हुई । दूसरे इस्लामी तंजीम के लोगो ने इसको गलत बताया। और बोहरा समाज के लोगो के प्रति तीखी प्रतिक्रिया की इसमे सब से हैरतनाक बात ये सामने आयी कि इतना सब कुछ हो जाने के बावजूद न तो दाउदी बोहरा समाज की अंजुमन ए मोहम्मदी जामात कमेटी  के कर्ताधर्ताओं ने ना ही समाज के आमिल शेख जोहैर भाई शाकिर ने इस बात को लेकर मीडिया में आकर ये सच्चाई बयान करने की जरूरत नही समझी की कार्यक्रम मस्जिद में न होकर जामात खाने में हुआ था। 

जब इसको लेकर सोशल मीडिया में और राष्ट्रीय न्यूज़ चैनल में जब ये खबर प्रसारित हुई तब बोहरा समाज के कुछ युवाओ को आगे आकर रविवार को पत्रकारों को ये सच्चाई से रूबरू करवाना पड़ा कि समाज का जो ईद का  कार्यकम हुआ था वो मस्जिद में न होकर जमातखाने में था समाज की और से मुस्तुफा राजा ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि बोहरा समाज एक शांति प्रिय समाज है। और हम अतिथि देवो भवा को मानते हए अपने समाज मे सभी धर्मों और सभी राजनीतिक लोगो का आदर करते है अपने बयान में मुस्तुफा राजा ने इस मामले पर आगे कहा कि ये समाज से जुड़ा मामला था लोगों में गलत संदेश गया इस लिए सामज के आमिल साहब और जामात कमेटी को आगे आकर लोगों की सच बताना चाहिये था जो उन्होंने नही बताया मुस्तुफा ने मीडिया के माध्यम से बोहरा समाज के भोपाल आमिल शेख जोहैर भाई शाकिर और जामात कमेटी से इस्तीफे की मांग भी उठाई है

अब देखना होगा मुम्बई स्थित दाउदी बोहरा समाज की राष्ट्रीय तंजीम दावते ए हादिया इस पूरे मसले पर क्या एक्शन लेता है? बाकी इस पूरे मामले को लेकर समाज मे समाज के ही कुछ गैरजिम्मेदार लोगो के प्रति तगड़ा और तीखा गुस्सा देखने को मिल रहा है।

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com