ब्रेकिंग न्यूज़ सिरोंज : नाबालिग का अपहरण कर बिना पंडित के ही मंदिर में लिए फेरे केस दर्ज |                मंदसौर : नशे में धुत शिक्षक ने स्कूल में किया हंगामा मामला दर्ज |                बड़वानी : अनियंत्रित होकर नदी की पुलिया पर लटकी बस, यात्री सुरक्षित |                भिंड : युवक की पीट पीटकर हत्या, चचेरे भाई गंभीर परिजनों ने किया चक्काजाम |                ग्वालियर : बीएसएफ प्रशिक्षक शहाना पर साथी के अपहरण की एफआईआर |                ग्वालियर : बीएसएफ प्रशिक्षक शहाना पर साथी के अपहरण की एफआईआर |                सागर : मेहर गाँव में उल्टी दस्त के मरीज बढ़े एक की मौत |                  
सत्संग में मची भगदड़ के जिम्मेदार 6 आरोपी गिरफ्तार, मुख्य आयोजक पर एक लाख रु. का इनाम घोषित |

हाथरस : 05/07/2024 : हाथरस के सत्संग में मची भगदड़ में 123 मौते अब तक हो चुकी हैं, लेकिन बाबा नारायण साकार हरि अब तक सामने नहीं आए हैं उन पर कोई कार्यवाही अभी तक नहीं की गई है | भगदड़ के तीसरे दिन पुलिस ने 6 सेवादारों को पकड़ा है जिन्होने कबूल किया है की सत्संग में मची भगदड़ के जिम्मेदार वही हैं | उन्होने बाबा की चरणरज के लिए दौड़ी भीड़ को जबरदस्ती रोका जिससे भगदड़ मच गई और लोग एक दूसरे पर गिरने लगे और कच्चा रास्ता होने से पानी के कारण कीचड़ मच गई थी, जिससे लोग संभल नहीं पाए और कच्चे नाले में गिरते चले गए | इनमें सबसे अधिक मौतें महिलाओं की हुई हैं, महिलाओं की पसलियाँ टूटकर दिल और फेफड़ों में घुस गईं महिलाएं शरीर से कमजोर होने के कारण हादसे की चपेट में अधिक आईं हैं | पुलिस की जांच में प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि सेवादारों ने घटना के समय वीडियो बना रहे लोगों के मोबाइल छीन लिए थे, इसलिए घटना का कोई वीडियो अब तक उजागर नहीं हुआ है | बल्कि घटनास्थल से तमाम सबूत भी मिटा दिए गए हैं | कुछ सबूत बारिश के कारण धुल गए और कुछ बाबा की पर्सनल आर्मी ने मिटा डाले | पुलिस ने जिन 6 सेवादारों को गिरफ्तार किया है उनमें 4 पुरुष,2 महिलाएं हैं | ये सभी आयोजन समिति के सदस्य और सेवादार हैं, मुख्य आयोजक देव प्रकाश मधुकर पर एक लाख रु. का इनमा घोषित किया गया है | गिरफ्तार 6 सेवादारों ने पुलिस को बताया कि वह भीड़ और चंदा जुटाने की ज़िम्मेदारी निभाते हैं | भीड़ नियंत्रण, पंडाल, पार्किंग की व्यवस्था करते हैं | सेवादारों ने बताया कि उन्हें अलग-अलग तरह की ड्रेस दी जाती है | बाबा के बारे में माना जाता है कि उनके चरणरज से संकट दूर हो जाते हैं | ये सेवादार बाबा को गाड़ी से निकालने के लिए बाबा की गाड़ी के आगे और पीछे दौड़ते हैं | घटना के दिन भी बाबा की चरणरज के लिए गाड़ी के सामने आई उमड़ी भीड़ को रोका और जैसे ही काफिला निकला तो हमने भीड़ को अनियंत्रित छोड़ दिया जिससे भगदड़ के कारण अफरा तफरी मच गई | ये सब देख हम सभी लोग जल्दी से वहां से निकल गए, हम पुलिस प्रशासन को आयोजन की फोटो और वीडियो बनाने से भी रोकते थे | इधर कुछ स्वतंत्र लोगों ने घटना के दौरान बनाए गए वीडियो एसआईटी को सौंपे हैं | इनमें बाबा की आर्मी से जुड़े लोग वीडियो बनाने वालों के हाथों से मोबाइल फोन छीन रहे हैं और भगदड़ में गिरी महिलाओं को हाथ लगाने से मना करते दिखाई दे रहे हैं | एक सीसीटीवी फुटेज में बाबा आयोजन स्थल से सफ़ेद रंग की गाड़ी में बैठकर जाते दिखे कार के आगे पर्सनल कमांडो बाइक से पायलट की तरह जा रहे थे | एसआईटी ने प्रत्यक्षदर्शियों, घायलों और मृतकों के परिजनों सहित 64 लोगों के बयान दर्ज किए हैं | आगे की जांच भी चल रही है इस संबंध में बाबा की गिरफ्तारी भी संभव है |

 

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com